कैसे बन सकता हूँ मैं भी (IAS) - सफलता के मंत्र - Go Sarkari

Post Top Ad

Wednesday, 3 February 2016

कैसे बन सकता हूँ मैं भी (IAS) - सफलता के मंत्र


कैसे बन सकता हूँ  मैं भी (IAS)  - सफलता के मंत्र
मित्रों , यदि आप सिविल सर्विसेज में शामिल होकर आईएएस बनने का सपना देख रखा है आपको तो तैयारी की प्लानिंग बदलने की जरूरत है । 
यदि आपने अपनी तैयारी का तरीका अच्छा कर लिया तो आप कम समय में अच्छी तैयारी आसानी से कर पाएंगे और कम मेहनत में अच्छा परिणाम देखने को मिल सकेगा |

इस बात का ज्ञान सभी को है कि आईएएस की परीक्षा की तैयारी के लिए कड़ी मेहनत करने की आवश्यकता होती है | इस परीक्षा हेतु स्टूडेंट्स के मन में वैसे भी कई सवाल होते है कि कैसे तैयारी करें ? कैसे समय निकालें ? कहाँ से तैयारी करना प्रारम्भ करें ? इस तरह के बहुत से प्रश्न अभ्यर्थी के मन में उठते रहते है | इन सभी समस्याओं के समाधान के लिए कुछ सफलता प्राप्त हेतु मन्त्र बताएंगे जायेंगे जिनके ग्रहण करने से आपको तैयारी में मदद प्राप्त होगी |

IAS बनने के लिए टिप्स-

आपका हर पल है महत्वपूर्ण-
इस परीक्षा के लिए आप प्रभावशाली तैयारी तभी कर पाएंगे जब आप उसके लिए पर्याप्त समय दे पाएंगे  | इसकी तैयारी के लिए 1-2 वर्ष तक का समय पर्याप्त हो सकता है इस समय आप तैयारी करने के लिए यदि आप पर्याप्त समय नही देते है तो आप परीक्षा में सफलता पाने के लिए आपको और अधिक समय तक तैयारी करनी पड़ सकती है | इसलिए आपकी परीक्षा के पास का हर पल कीमती होता है इसलिए उस समय का सदुपयोग स्टडी हेतु करें |

समय प्रबंधन है महत्वपूर्ण-
आईएएस की परीक्षा में यदि सफलता पाने का लक्ष्य बना लिया है तो सभी प्रश्न पत्रों पर ध्यान देना होगा | इसके अलावा आपको सभी प्रश्न पत्रो पर फोकस करना भी महत्वपूर्ण है | कभी ऐसा करने की गलती न करें कि एक पेपर की तैयारी अच्छी कर लें तथा दूसरें पर ज्यादा ध्यान ही न दें | अगर आप सभी प्रश्न पत्रों की तैयारी अच्छी कर पाते है और अधिक से अधिक अंक प्राप्त करने में सफल होते है तो आपका IAS की परीक्षा में चयन लगभग तय हो जायेगा |

सभी विषयों पर बनाये फोकस-
इस परीक्षा की तैयारी करते समय किसी भी विषय को पेंडिंग में नहीं डालना चाहिए | सभी विषयों को साथ लेकर चलना महत्वपूर्ण होता है इस परीक्षा की तैयारी करते समय कुछ अभ्यर्थी जनरल इंग्लिश और समान्य हिंदी पर गंभीर नहीं होते है परन्तु जब परीक्षा का समय नजदीक आ जाता है तो फिर इन विषयों की तैयारी करना मुश्किल हो जाता है | तैयारी करते समय इस तरह की समस्याएं न बनाये , जो हमारी परीक्षा के लिए घातक सिद्ध हो | इस लिए सभी विषयों पर फोकस करना महत्वपूर्ण होता है |

साइंटिफिक सोच हो सकती है फायदेमंद-
इस परीक्षा में सफलता पाने के लिए कई टॉपर्स की अवधारणा है कि कुछ स्टूडेंट्स यह सोचते है कि निबंध में कुछ अच्छी तैयारी करके अच्छे अंक प्राप्त हो सकते है |  यह बाते ठीक नहीं होती है क्योंकि निबंध में आप अंक तभी पा सकते है जब आप साइंटिफिक तरीका का प्रयोग करेंगे | इस परीक्षा में निबंध का एक अनिवार्य पेपर होता है  जो 3 घंटे का एग्जाम होता है इसमें सुव्यवस्थित और तर्कपूर्ण तरीके से लिखे | यह निबंध किसी एक विषय पर लिखना होता है |

लेखन क्षमता भी है जरूरी-
IAS के छात्रों के अंदर एक बहुत ही बड़ी समस्या देखने को मिलती है कि वो स्टडी तो बहुत अधिक करते है परन्तु लेखन क्षमता की कमी हो जाती है जिसके कारण निबंध जैसे विषयों में काफी समस्या का समाना करना पड़ता है | इस समस्या को देखते हुए कई विशेषज्ञ सलाह भी देते है कि लिखने का भी अभ्यास करना जरूरी होता है | 

इसके अलावा निबंध लेखन प्रक्रिया को एक अनवरत प्रक्रिया माना है | जिसके द्वारा आपकी भाषा में पकड़ , शैली , आपका नजरिया तथा उसके सभी श्रोतों के ज्ञान की जाँच की जाती है | इसीलिए इस समस्या के समाधान के लिए लेखन क्षमता पर भी फोकस करें |
मित्रों , इस तरह से IAS की परीक्षा में सफलता प्राप्त कर सकते है अब इस आर्टिकल के माध्यम से आपको IAS की परीक्षा की तैयारी करने में अवश्य ही सहायता प्राप्त होगी | अब आप अपने IAS बनने की ख्वाहिश को पूरा करने में आसानी होगी |

दी गई जानकारी से आप अपने IAS बनने के सपना को साकार करने की ओर जरूर अग्रसर हो सकेंगे , यदि अभी भी आपके मन में कोई सवाल आ रहा है तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर पूछें | आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का हमें इंतजार है | यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो हमारे फेसबुक पेज को जरूर LIKE करें |



Advertisement


No comments:

Post a Comment


Getting in Trouble - Ask Experts?